न्यूनतम् दैनिक आराधना

आज के भौतिकतावादी युग में समाज का एक बहुत बड़ा वर्ग विशेषकर युवा वर्ग धर्म में रूचि होते हुए भी समयाभाव का बहाना बनाकर पूजा-पाठ में रूचि नहीं लेता है,...
Read More

शिव-शरणागति

- वाणी की शिव-शरणागति - हे मेरी प्यारी वाणी ! क्या अब भी बनी रहेगी अयानी ? अब तो हे सुभगे ! बन जा सयानी ! त्याग दे विषय-भोगों-की विषमयी...
Read More

शिव- पार्वती सम्वाद

जैसा कि सभी जानते हैं, कि वेद, पुराण एवं शास्त्र हमारी प्राचीन धार्मिक एवं सांस्कृतिक धरोहर है जिसमें अथाह ज्ञान का भंडार समाहित है। उसी धरोहर में से उपरोक्त शिव-पार्वती...
Read More

इच्छाओं और आकांक्षाओं की पूर्ति के उपाय

(शिवपुराण के अनुसार) मनुष्य के जीवन में अनेक समस्यायें हैं जिन्हें दूर करने के लिये वह भिन्न-भिन्न उपाय करता रहता है जैसे धर्म गुरूओं, मुल्ला-मौलवियों, ज्योतिशियों, मठ-मन्दिरों के चक्कर लगाता...
Read More

मेरा आध्यात्मिक दृष्टिकोण

सृष्टि मैं ईश्वर एक ही है, अनेक नहीं हो सकते। वह कण-कण में व्याप्त है। यदि दूसरा ईश्वर है तो अनेक उसके लिए दूसरा संसार चाहिए, व्याप्त होने के लिए।...
Read More